fbpx
सीकरEDUCATION UPDATESचुरू मंडल
Trending

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं पुराने पैटर्न पर 100% सिलेबस से हाेंगी नवंबर तक पूरा कराना होगा काेर्स | 3 महीने चलेगी रिवीजन क्लास

CBSE Board Exams Will Be Conducted On The Old Pattern With 100% Syllabus, Courses Will Have To Be Completed By November, Revision Class Will Run For 3 Months

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं पुराने पैटर्न पर 100% सिलेबस से हाेंगी नवंबर तक पूरा कराना होगा काेर्स | 3 महीने चलेगी रिवीजन क्लास

CBSE Board Exams Will Be Conducted On The Old Pattern With 100% Syllabus, Courses Will Have To Be Completed By November, Revision Class Will Run For 3 Months

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) की ओर से शैक्षणिक सत्र 2022-23 में कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं पुराने पैटर्न पर कराई जाएगी। बोर्ड ने इस बार परीक्षाएं 31 मार्च से पहले कराने की घोषणा पहले ही कर दी है। काेर्स नवंबर तक पूरा करवाना हाेगा। इसे देखते हुए स्कूलों में इस शिक्षण सत्र में पढ़ाने के पैटर्न में बदलाव किया गया है। सीबीएसई ने इस साल परीक्षा का पैटर्न पहले ही जारी कर दिया है। इसलिए पढ़ाने के तरीके में बदलाव करना हाेगा।

 

सीबीएसई की ओर से जारी गाइड लाइन के मुताबिक अब परीक्षा बैक टू बेसिक मोड, यानी 100% सिलेबस की एक बार होगी। इसके लिए स्कूल खासतौर पर हाइब्रिड मोड पर क्लासरूम स्ट्रेटजी तैयार की है।

इसमें विद्यार्थियों को सिलेबस पूरा कराने के लिए ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन मोड में भी पढ़ाई कराई जाएगी। इससे सिलेबस जल्दी हो सकेगा। प्री-बोर्ड से पहले 80 फीसदी सिलेबस पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। पेपर से 3 माह पहले रिवीजन क्लास शुरू हो जाएगी। इसमें सैंपल पेपर कराए जाएंगे, इससे विद्यार्थियां की बोर्ड परीक्षा से पहले बेहतर प्रैक्टिस हो सकेगी।

कोविड में ऐसे बदलता रहा परीक्षा का पैटर्न
2019-20 : कोविड के कारण कुछ विषयों की परीक्षा नहीं हो पाई थी। बोर्ड ने मार्किंग स्कीम बनाकर प्री-बोर्ड के अंकों के आधार पर परिणाम की घोषणा की थी।

2021-22 : परीक्षा दो टर्म में हुई। 30% सिलेबस कम कर दिया। दोनों टर्म के वेटेज पर रिजल्ट बना। दूसरे टर्म की कॉपियों देरी से चेक हुई। जिस कारण रिजल्ट लेट आया।

2020-2021 : परीक्षाएं कोविड के कारण नहीं हुई। परफॉर्मेंस के आधार पर परिणाम घोषित हुआ। कोई टॉपर घोषित नहीं किया। अधिकांश स्कूल का परिणाम 100 प्रतिशत रहा।

2022-23 : अगले वर्ष की परीक्षा कोरोना काल के पहले वाले पैटर्न पर होंगी। 100% सिलेबस से सवाल आएंगे। एक बार बोर्ड परीक्षा होंगी। यह 31 मार्च से पहले हो जाएगी।

ये किए गए बदलाव
शिक्षकों के लिए इस बार हाइब्रिड मोड स्ट्रेटजी लांच की है। इसकी ट्रेनिंग दी गई है। इस बार हाइब्रिड मोड स्ट्रेटजी से छात्रों को बोर्ड परीक्षा की तैयारी करने में आसानी होगी। क्योंकि उनको तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिल सकेगा।

बोर्ड ने परीक्षा के दो टर्म की पॉलिसी को खत्म कर दिया है। इस बार साल में एक बार ही परीक्षा आयोजित होने से विद्यार्थी पूरी एनर्जी के साथ इस परीक्षा की तैयारी करनी होगी। इसमें एक बार में ही सिलेबस से प्रश्न पेपर में आएंगे।

सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं पुराने पैटर्न पर 100% सिलेबस से हाेंगी नवंबर तक पूरा कराना होगा काेर्स | 3 महीने चलेगी रिवीजन क्लास

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए