fbpx
जोधपुरEDUCATION UPDATESजोधपुर मंडल
Trending

होमवर्क नहीं किया तो निजी स्कुल के साइंस टीचर ने मारे 15 थप्पड़: हाथ पर चूंटियां काटीं बेहोश होकर गिरा हॉस्पिटल में एडमिट

होमवर्क नहीं किया तो साइंस टीचर ने मारे 15 थप्पड़: हाथ पर चूंटियां काटीं बेहोश होकर गिरा हॉस्पिटल में एडमिट

 

जोधपुरके एक प्राइवेट स्कूल में होमवर्क पूरा न करने की मामूली बात पर टीचर ने स्टूडेंट को बुरी तरह पीट दिया। बच्चो को सिर में अंदरूनी चोट आई जिसके कारण उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। मामला जिले के बोरुंदा कस्बे का है।

 

बोरुंदा के बेलदारों का मोहल्ला न्यू कॉलोनी में रहने वाले कानाराम ओड ने पुलिस को लिखित शिकायत देकर आरोपी टीचर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। कानाराम ने बताया कि उनका बेटा आकाश बोरुंदा के डॉ राधाकृष्णन सीनियर सैकेंडरी स्कूल में 9 क्लास में पढ़ता है। गुरुवार 15 सितंबर को दोपहर 2 बजे के करीब उसी स्कूल में पढ़ने वाला आकाश का ममेरा भाई मिथुन आकाश को संभालते हुए घर लाया।

14 साल के आकाश को टीचर ने बुरी तरह पीटा। अंदरूनी चोटों के कारण अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। हाथ पर चूटिंयां काटीं। नील के निशान पड़ गए।

14 साल के आकाश को टीचर ने बुरी तरह पीटा। अंदरूनी चोटों के कारण अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। हाथ पर चूटिंयां काटीं। नील के निशान पड़ गए।

आकाश को चक्कर आ रहा था। उसके सिर और कान में तेज दर्द था। पूछने पर आकाश ने बताया कि बुखार के कारण वह 3 दिन स्कूल नहीं जा पाया था। इस दौरान उसने साइंस का होमवर्क पूरा नहीं किया। इस बात पर साइंस टीचर रामकरम ने हाथ पर चूंटियां काटीं और सिर, गाल व कान पर 15 थप्पड़ मारे। आकाश क्लास में ही गिर पड़ा। इस दौरान दूसरी टीचर आ गए। बच्चे की हालत देख उन्होंने स्कूल के ऊपर बने रूम नंबर 15 में बच्चे को लिटा दिया।

आकाश ने प्रिंसिपल के पास जाने की बात कही तो टीचर रामकरण ने प्रिंसिपल या घरवालों से पिटाई की बात नहीं कहने की हिदायत दी। कहा कि किसी को बताया तो फेल कर दूंगा, नहीं बताएगा तो अच्छे नंबर दूंगा। पिता कानाराम गुरूवार को ही बच्चे को बोरुंदा के सरकारी स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए तो डॉक्टर ने उसे जोधपुर रेफर कर दिया गया। कानाराम ने स्कूल के प्रिंसिपल बाबूलाल भाकर से शिकायत की तो पहले उन्होंने टीचर का समर्थन किया। लेकिन जोधपुर रेफर किया जाने की बात सुनकर बोरुंदा से जोधपुर के लिए गाड़ी भेजी। स्कूल स्टाफ के कुछ टीचर्स को भी साथ भेजा।

पिता ने पुलिस को लिखित शिकायत देकर आरोपी टीचर पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

पिता ने पुलिस को लिखित शिकायत देकर आरोपी टीचर पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

जोधपुर में गुरुवार शाम 6.30 बजे श्रीराम अस्पताल में सीटी स्कैन कराया तो कान के पास अंदरूनी हिस्से में सूजन के कारण बच्चे को एडमिट कर लिया गया। मामला गंभीर देख स्कूल के स्टाफ के टीचर्स गाड़ी लेकर फरार हो गए। अब बच्चे का इलाज चल रहा है। गुरुवार शाम काना राम ने पुलिस को लिखित शिकायत देकर आरोपी टीचर के खिलाफ सख्त एक्शन की मांग की।

आकाश के पिता ने कहा कि स्कूल घर से 3 किलोमीटर दूर है। 500 मीटर पैदल चलकर आकाश स्कूल बस से कजिन मिथुन के साथ गुरुवार सुबह स्कूल गया था। छठे पीरियड में साइंस टीचर रामकरण ने होमवर्क न करने की बात पर पिटाई कर डाली। काना राम ने कहा कि पुलिस में मामला दर्ज कराया को शुक्रवार 16 सितंबर कि सुबह स्कूल प्रिंसिपल बाबूलाल भाकर का बेटा जोधपुर पहुंच गया। वहां कानाराम पर शिकायत वापस लेने और खाली स्टाम्प पर साइन कर राजीनामा करने का दबाव बनाया।

जोधपुर के श्रीराम अस्पताल में भर्ती है आकाश। पिता ने कहा कि आरोपी टीचर के खिलाफ सख्त एक्शन होना चाहिए।

जोधपुर के श्रीराम अस्पताल में भर्ती है आकाश। पिता ने कहा कि आरोपी टीचर के खिलाफ सख्त एक्शन होना चाहिए।

कानाराम ओड ट्रक चला कर अपने परिवार का गुजारा करता है। उसने प्रशासन व जोधपुर पुलिस अधीक्षक से अमानवीय हरकत करने वाले शिक्षक रामकरण के खिलाफ कार्रवाई कर न्याय दिलाने की मांग की है।

होमवर्क नहीं किया तो साइंस टीचर ने मारे 15 थप्पड़: हाथ पर चूंटियां काटीं बेहोश होकर गिरा हॉस्पिटल में एडमिट

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए