fbpx
झुंझुनूEDUCATION UPDATESचुरू मंडल
Trending

अब सरकारी स्कूलों में भी पैरेंट्स टीचर मीटिंग: सरकार की बड़ी पहल | इसी सत्र शुरू होगी मीटिंग | साल में चार PTM

अब सरकारी स्कूलों में भी पैरेंट्स टीचर मीटिंग: सरकार की बड़ी पहल | इसी सत्र शुरू होगी मीटिंग | साल में चार PTM

अब सरकारी स्कूलों में भी पैरेंट्स टीचर मीटिंग: सरकार की बड़ी पहल | इसी सत्र शुरू होगी मीटिंग | साल में चार PTM

 

अब सरकारी स्कूलों में भी पैरेंट्स टीचर मीटिंग

निजी स्कूलों की तर्ज पर अब सरकारी स्कूलों में भी अध्यापक अभिभावक बैठक (पीटीएम ) होगी। ताकि बच्चों के बारे में अध्यापक और अभिभावक आपस में चर्चा कर सकेंगे। बच्चों की परफॉर्मेंस के बारे में अभिभावकों के साथ चर्चा कर सुधार कर सकेंगे। शिक्षा विभाग की ओर से सरकारी स्कूलों में भी वर्तमान शिक्षा सत्र के लिए अध्यापक अभिभावक बैठक (पीटीएम) की तैयारी शुरू कर दी गई है। बैठक में शिक्षक और अभिभावक बच्चों के भविष्य को लेकर उनके शैक्षणिक स्तर व गुणात्मक सुधार की आवश्यकता पर चर्चा करेंगे। इससे अभिभावक विद्यालय एवं उनके बच्चों की शैक्षिक एवं सहगामी पाठ्य गतिविधियों की उपलब्धि से रूबरू होंगे।

 

विद्यार्थियों एवं अभिभावकों का शिक्षकों से सीधा जुड़ाव स्थापित होगा। इस संबंध में स्कूल शिक्षा परिषद की ओर से दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

एक सत्र में शिक्षक अभिभावक होगी 4 बैठक

जिला शिक्षा अधिकारी मनोज ढाका ने बताया कि इस वर्ष शैक्षिक सत्र में चार बार पीटीएम का आयोजन किया जाएगा। पहली बैठक शिविरा पंचाग वर्ष 2022-23 अनुसार। द्वितीय 19 नवम्बर को मां-शिक्षक बैठक होगी। इसमें बच्चों की मां को अनिवार्य रूप से बुलाया जाएगा। तृतीय बैठक सात जनवरी 2023 को होगी तथा चौथी बैठक 30 अप्रेल 2023 को की जाएगी। बैठकों में विद्यार्थियों की स्थानीय परीक्षा टेस्ट, परीक्षा एवं वार्षिक परीक्षा के परिणाम पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा। बैठक में विद्यार्थियों की माताओं को विशेष रूप से आमंत्रित कर उनसे विद्यार्थियों की शैक्षणिक, सह शैक्षणिक प्रगति पर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा सक्रिय माताओं का सम्मान भी विद्यालय परिवार करेगा।

अभियान में सोशल मीडिया का लेंगे सहारा

बदलते सामाजिक परिवेश में सरकारी स्कूलों की ओर से भी ॉट्सएप जैसे सोशल मीडिया का सहारा लिया जाने लगा है। पीटीएम की सूचना भी दो दिन पहले एसएमएस या वॉट्सएप के माध्यम से अभिभावक के मोबाइल पर पहुंचाई जाएगी। इसके अलावा संस्था प्रधान बैठक तिथि से दो सप्ताह पहले भी इसकी सूचना विद्यार्थी के साथ उनके अभिभावक के पास पहुचाएंगे। शिक्षा परिषद की ओर से जारी आदेशों में कहा गया कि विद्यालयों में बालिका उत्पीड़न एवं बाल यौनाचार की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए निदेशालय, माध्यमिक शिक्षा और प्रारंभिक शिक्षा, राजस्थान की ओर से जारी विस्तृत निर्देशों के बारे में अभिभावकों को जागरूक किया जाए। इसके अतिरिक्त नशा मुक्त भारत अभियान के तहत संचालित गतिविधियों कार्यक्रमों की जानकारी भी दी जाए।

इन मुख्य बिन्दुओं पर भी की जाएगी चर्चा

विद्यार्थियों के स्तर उन्नयन के लिए ध्यान दिए जाने बिंदुओं पर चर्चा

विद्यार्थियों की शैक्षिक उपलब्धि पर विचार विमर्श

अभिवावकों के साथ विद्यार्थियों का रिपोर्ट कार्ड साझा कर चर्चा करना प्रार्थना सभा में अभिभावकों को शामिल करें

विद्यार्थियों के लिए संचालित योजनाओं के बारे में बताना

विद्यालय विकास के लिए अभिभावकों के सुझाव लेना

सिंगल यूज प्लास्टिक के संबंध में जागरूक करना।

महिला गरिमा हेल्पलाइन नम्बर 1090 की जानकारी देना।

एसएमसी एवं एसडीएमसी सदस्यों का परिचय एवं उनके दायित्व बताना

अब सरकारी स्कूलों में भी पैरेंट्स टीचर मीटिंग: सरकार की बड़ी पहल | इसी सत्र शुरू होगी मीटिंग | साल में चार PTM

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए