fbpx
जरूरत की खबरEXAMINATIONS
Trending

IIT JEE : जो एडवांस नहीं देना चाहते वे एनआइटी में ले सकते हैं दाखिले

IIT JEE: Those who do not want to advance can take admission in NIT

IIT JEE : जो एडवांस नहीं देना चाहते वे एनआइटी में ले सकते हैं दाखिले

IIT JEE : जो एडवांस नहीं देना चाहते वे एनआइटी में दाखिले ले सकते हैं. जेईई मेन के सफल अभ्यर्थियों के लिए दाखिला को लेकर कई विकल्प हैं। वे आइआइटी में प्रवेश के लिए जेईई एडवांस परीक्षा में बैठ सकते हैं। जो जेईई एडवांस नहीं देना चाहतेए वे एनआइटी और ट्रिपल आइटी आदि शीर्ष संस्थानों में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं।

IIT JEE : जो एडवांस नहीं देना चाहते वे एनआइटी में दाखिले ले सकते हैं. जेईई मेन के सफल अभ्यर्थियों के लिए दाखिला को लेकर कई विकल्प हैं। वे आइआइटी में प्रवेश के लिए जेईई एडवांस परीक्षा में बैठ सकते हैं। जो जेईई एडवांस नहीं देना चाहतेए वे एनआइटी और ट्रिपल आइटी आदि शीर्ष संस्थानों में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं।
IIT BHU

IIT BHU
99 पर्सेंटाइल से ज्यादा: एनआइटी तिरुचिरापल्लीए वारंगल, सुरथकल, इलाहाबाद, राउरकेला, कालीकट, जयपुर, कुरूक्षेत्र और ट्रिपल आइटी इलाहाबाद में कोर ब्रांचेज मिलने की संभावनाएं। 

99 से 98 पर्सेंटाइल : टॉप 20 एनआइटी एवं ट्रिपल आइटी जैसे जबलपुर, ग्वालियर, गुवाहाटी, कोटा, लखनऊ में कोर ब्रांच मिलने की संभावनाएं। एनआइटी में भोपाल, सूरत, नागपुर, जालंधर, दिल्ली, हमीरपुर, दुर्गापुर आदि शामिल हैं।

98 से 96 पर्सेंटाइल: स्कोर टॉप 20 एनआइटी की कोर ब्रांचों के अलावा एनआइटी पटना, रायपुर, अगरतला, श्रीनगर, सिल्चर, उत्तराखंड, बिट्स मेसरा, पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज चंडीगढ़, जेएनयू, हैदराबाद यूनिवर्सिटी जैसे संस्थानों में प्रवेश मिल सकता है। नए ट्रिपल आइटी वडोदराए पुणे, सोनीपत, सूरत, नागपुर, भोपाल, तिरुचिरापल्ली, रायचूर, कांचीपुरम, रांची, धारवाड़, अगरतला, कल्याणी की कोर ब्रांचेज में भी संभावना रहेगी।
96 से 94 पर्सेंटाइल : टॉप 25 से 31 एनआइटी की कोर ब्रांचों के अलावा जीएफटीआइ संस्थानों में संभावनाएं। 

जेईई एडवांस के लिए पात्रता

12वीं में मुख्य विषयों भौतिक शास्त्रए रसायन शास्त्र और गणित के साथ न्यूनतम 75ः अंक।

अभ्यर्थी जेईई मेन परीक्षा के टॉप 2.5 लाख रैंक होल्डर्स में शामिल हो। 

जन्म 1 अक्टूबर 1997 के बाद हुआ हो। 

एससीए एसटी और विकलांग वर्ग को आयु सीमा में 5 साल की छूट।

अभ्यर्थी लगातार दो साल जेईई एडवांस परीक्षा दे सकता है। 

जिन्हें आइआइटी में दाखिला मिल चुका होए वे जी एडवांस परीक्षा नहीं दे सकेंगे।

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए