fbpx
जरूरत की खबरEDUCATION UPDATES
Trending

जेईई मेन: 90 फीसदी से ज्यादा स्टूडेंट्स तो आधे पेपर को भी हल नहीं कर सके जेईई की रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य

जेईई मेन: 90 फीसदी से ज्यादा स्टूडेंट्स तो आधे पेपर को भी हल नहीं कर सके जेईई की रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य

जेईई मेन: 90 फीसदी से ज्यादा स्टूडेंट्स तो आधे पेपर को भी हल नहीं कर सके जेईई की रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य

 

जयपुर : जेईई मेन: 90 फीसदी से ज्यादा स्टूडेंट्स तो आधे पेपर को भी हल नहीं कर सके जेईई की रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य

आईआईटी की जॉइंट इंप्लीमेंटेशन कमेटी ने 2021 में आयोजित जेईई एडवांस्ड की रिपोर्ट जारी कर दी है। इसमें सबसे बड़ा चौंकाने वाला तथ्य यह है कि दोनों परीक्षाओं में कुल 114 में से 57 सवाल ऐसे थे, जिन्हें 10% से भी कम छात्र हल कर पाए।

 

90% छात्रों ने ये सवाल छोड़ दिए या उत्तर आंशिक सही पाया गया। विशेषज्ञों का मानना है कि जेईई एडवांस्ड का स्तर लगातार कठिन हो रहा है। इसके स्कोर पर ही आईआईटी व अन्य संस्थानों में दाखिला मिलता है।

रिपोर्ट के अनुसार पेपर-2 में केमिस्ट्री के 2 सवाल ऐसे थे, जिन्हें 1% छात्र ही हल कर पाए। एक सवाल तो सिर्फ 0.62% छात्र हल कर पाए। इसका सही उत्तर 878 छात्रों ने दिया। वहीं 1 लाख ने गलत उत्तर दिया और 38 हजार छात्रों ने उत्तर ही नहीं दिया।

पेपर-1 में फिजिक्स के 4 सवाल और केमिस्ट्री-मैथ्स के
10-10 सवालों के सही उत्तर 10% से भी कम छात्र दे पाए। इसी तरह पेपर-2 में फिजिक्स के 8, केमिस्ट्री के 11 और मैथ्स के 14 सवालों के जवाब सिर्फ 10% छात्र दे पाए। पेपर-1 में 24 और पेपर-2 में 33 सवाल मुश्किल थे। जिन्होंने इन सवालों के सही जवाब दिए, टॉप-200 में ज्यादातर वही छात्र जगह बनाए पाए हैं।

एक्सपर्ट व्यू : आत्मविश्वास हो, तभी उत्तर दें; वरना छोड़ दें
विशेषज्ञों का कहना है कि जेईई एडवांस्ड दुनिया की सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक है। इसका पैटर्न तय नहीं होता। मार्किंग स्कीम भी सभी सवालों के लिए समान नहीं होती। इसलिए उत्तर पूरी तरह न आए तो सवाल छोड़ देना चाहिए। शिक्षाविद् आशीष अरोड़ा ने बताया, मुश्किल सवालों से ही टॉप 200 से 300 रैंक तय होती है। जिन सवालों के सही जवाब का प्रतिशत 2 या 3 है, वही रैंक तय करते हैं। एडवांस्ड में बेहतर रैंक लॉजिकल रीजनिंग से आती है।

जेईई मेन: 90 फीसदी से ज्यादा स्टूडेंट्स तो आधे पेपर को भी हल नहीं कर सके जेईई की रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए