fbpx
श्रीगंगानगरEDUCATION UPDATESबीकानेर मंडल
Trending

स्टूडेंट्स स्कूल पहुंचे तो लटकता मिला ताला: पेरेंट्स ने की कलेक्टर से शिकायत बोले अब कहां जाएं स्टूडेंट्स आरटीई में भी कहीं नहीं हो पाएगा एडमिशन

स्टूडेंट्स स्कूल पहुंचे तो लटकता मिला ताला: पेरेंट्स ने की कलेक्टर से शिकायत बोले अब कहां जाएं स्टूडेंट्स आरटीई में भी कहीं नहीं हो पाएगा एडमिशन

 

कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते पेरेंट्स। - Dainik Bhaskar

कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते पेरेंट्स।

शहर के जी ब्लॉक के एसडी कॉन्वेंट स्कूल की पुरानी आबादी ब्रांच में सोमवार को स्टूडेंट्स और पेरेंट्स उस समय भौचक्के रह गए जब उन्हें स्कूल पर ताला लटकता मिला। स्कूल शनिवार तक बिलकुल ठीक चल रहा था। स्टूडेंट्स वहां पढ़ने भी गए लेकिन सोमवार को जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो ताला लटका था। इस बारे में स्कूल मैनेजमेंट से बात की तो उनका कहना था कि उन्होंने स्कूल की ये ब्रांच बंद ही कर दी है। ऐसे में स्टूडेंट्स को पढ़ाने का सवाल ही नहीं उठता। परेशान पेरेंट्स ने जब मैनेजमेंट से सत्र का शुरुआती समय बीत जाने और तीन माह की फीस जमा करवा देने पर बात की तो मैनेजमेंट से जुड़े स्कूल इंचार्ज ने उनकी बात अनसुनी कर दी।

नाराज पेरेंट्स पहुंचे कलेक्ट्रेट
नाराज पेरेंट्स की बात पर जब मैनेजमेंट के रिप्रेजेंटेटिव्ज ने ध्यान नहीं दिया तो वे कलेक्टर के पास ही पहुंच गए। उन्होंने अपनी परेशानी बताई तो उन्होंने सीडीओ हंसराज यादव और एलीमेंट्री डीईओ गिरजेशकांत को कहा । कलेक्टर ने उन्हें तुरंत मामला देखने की बात कही।

 

पेरेंट्स बोले अब आरटीई वाले स्टूडेंट्स कहां ले जाएं
कलेक्ट्रेट पहुंचे पेरेंट्स में शामिल कपिल कुमार का कहना था कि आरटीई वाले स्टूडेंट्स को कहीं भी एडमिशन नहीं मिल पाएगा। नियामानुसार उसे दूसरा प्राइवेट स्कूल एडमिशन नहीं देगा और इन स्टूडेंट्स को सरकारी स्कूल में ही पढ़ना पड़ेगा।

तीन माह से दे रखी थी बंद करने की एप्लीकेशन
एसडी कॉन्वेंट स्कूल मैनेजमेंट कमेटी के चेयरमैन श्याम कांडा का कहना था कि हमने स्कूल बंद करने के लिए तीन माह पहले ही एजुकेशन डिपार्टमेंट को एप्लिकेशन दे रखी थी। इसी आधार पर इसे बंद किया गया। स्कूल की पुरानी आबादी ब्रांच की इंचार्ज ने वहां इस सेशन में बिना मैनेजमेंट को बताए एडमिशन कर लिए जो कि गलत था, और बच्चों को इसकी सूचना भी नहीं दी। अब हमने पेरेंट्स को आश्वासन दिया है कि अगर उन्होंने तीन माह की फीस दी है तो रसीद दिखाने पर लौटा दी जाएगी। इसके अलावा अगर पेरेंट्स चाहें तो सामान्य स्टूडेंट़्स को वे स्कूल को ब्लॉक एरिया ब्रांच में पढ़ा लेंगे। आरटीई के तहत तो स्टूडेंट़्स अब केवल सरकारी स्कूल में ही पढ़ सकेंगे। उनके अन्य स्कूल में ट्रांसफर होने जैसा कोई प्रावधान नहीं है। स्कूल घाटे में होने के कारण बंद करना पड़ा।

वहीं डीईओ एलीमेंट्री गिरिजेश कांत शर्मा ने बताया कि मामला जानकारी में आया है। स्कूल मैनेजमेंट और पेरेंट्स दोनों से बात हो गई है। मामले की जांच कर समस्या का समाधान करवा दिया जाएगा।

स्टूडेंट्स स्कूल पहुंचे तो लटकता मिला ताला: पेरेंट्स ने की कलेक्टर से शिकायत बोले अब कहां जाएं स्टूडेंट्स आरटीई में भी कहीं नहीं हो पाएगा एडमिशन

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए