fbpx
जरूरत की खबरEDUCATION UPDATES
Trending

SC आयोग अध्यक्ष बोले- राजस्थान में हर स्तर पर खामियां: कहा- संतोषजनक काम नहीं |आदिवासी जिलों में SC का आरक्षण कम किया

SC आयोग अध्यक्ष बोले- राजस्थान में हर स्तर पर खामियां: कहा- संतोषजनक काम नहीं |आदिवासी जिलों में SC का आरक्षण कम किया

SC आयोग अध्यक्ष बोले- राजस्थान में हर स्तर पर खामियां: कहा- संतोषजनक काम नहीं |आदिवासी जिलों में SC का आरक्षण कम किया

Said SC’s Reservation In Tribal Districts Was Reduced, This Is A Violation Of The Reservation Act

राष्ट्रीय एससी आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने प्रदेश में एससी कल्याण की योजनाओं और दलित अत्याचारों के मामलों की जांच में गंभीर खामियों पर सवाल खड़े किए हैं। सांपला ने कहा- राजस्थान में SC से जुड़ी योजनाओं से लेकर दलित अत्याचारों से जुड़े मामलों में हर स्तर पर खामियां पाई गई हैं। कहीं पर भी काम संतोषजनक नहीं है। एससी की योजनाओं का पैसा दूसरी जगह खर्च करने के मामले भी सामने आए हैं। दलित अत्याचारों के केसेज दर्ज करने में भी खामियां सामने आई हैं। मुख्य सचिव ने हमें तीन महीने में खामियां सुधारने का आश्वासन दिया है। सांपला सचिवालय में रिव्यू बैठक के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

 

सांपला ने क​हा- योजनाओं की जानकारियां जनता तक जानी चाहिए थीं। उसका पूरी तरह अभाव रहा। जनप्रतिनिधियों ने भी शिकायतें की है। एससी कल्याण से जुड़ी योजनाओं में भी कई गलतियां-कमियां पाईं गई हैं। इन योजनाओं में एससी के विकास में पैसा खर्च नहीं हो रहा। एससी के उत्थान में ही पैसा खर्च होना चाहिए। सभी विभागों में बहुत सी गलतियां पाई गई हैं। कहीं पर भी संतोषजनक नहीं है, लेकिन हमें सुधार का भरोसा दिलाया है। इसका मतलब है कि एससी अत्याचारों की जांच में हर मामले में खामियां हैं, सभी जगह गलतियां हैं, यही देखने और जांचने का हमारा काम है।

आदिवासी क्षेत्रों में नहीं मिल रहा एससी के लोगों को पूरा आरक्षण

सांपला ने कहा- राजस्थान में ट्राइबल एरिया में एससी के लोगों आरक्षण का लाभ नहीं मिल रहा है। रिजर्वेशन एक्ट पूरे प्रदेश के लिए बना है, किसी जिले का नहीं बना है, इसलिए एससी को पूरे प्रदेश में समान रूप से आरक्षण मिलना चाहिए। कोई अफसर अपनी मर्जी से आरक्षण काननू को लागू नहीं कर सकता। इसमें बदलाव विधानसभा में संशोधन बिल लाकर ही किया जा सकता है। एसटी इलाकों में एससी के आरक्षण पर फर्क नहीं पड़ना चाहिए। आप ट्राइबल की जनसंख्या ज्यादा होने का तर्क देकर एससी का आरक्षण कम नहीं कर सकते। फिर तो जनसंख्या के हिसाब से तो बीकानेर में 34-35 फीसदी एससी के लोग है वहां इतना ही आरक्षण क्यों नहीं लागू करते? आप पंचायता चुनावों में ट्राइबल इलाके में एसटी के ज्यादा आरक्षण दीजिए लेकिन एससी का आरक्षण कम नहीं कर सकते।

सांपला बोले- दलित बच्चे की लाश को दबाव बनाकर रात में जलाया, यह गलत

सांपला ने कहा- जालौर में नौ साल के बच्चे की मौत हुई है, उसकी मौत हुई है, कोई कह रहा कि है थप्पड़ मारने से मौत हुई। अब यह संभव नहीं कि थप्पड़ मारने से कोई बच्चा इतना गंभीर हो जाए कि उसे अहमदाबाद तक ले जाना पड़े और उसकी मौत हो जाए। इसमें कोई दो राय नहीं कि बच्चे की मौत हुई है और वह दुर्बल वर्ग का है। अब मटका छूने से पिटाई की वजह से मौत हुई यह सवाल नहीं है, एक दुर्बल वर्ग के बच्चे की मौत हुई है। हमें बहुत से लोगों ने कल बताया कि उस बच्चे की लाश को रात में जलाया गया, यह भी दबाव बनाया गया जो गलत है।

SC आयोग अध्यक्ष बोले- राजस्थान में हर स्तर पर खामियां: कहा- संतोषजनक काम नहीं |आदिवासी जिलों में SC का आरक्षण कम किया

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए