fbpx
पालीUncategorizedपाली मंडल
Trending

शिक्षक तो एमएए और बीएडधारी | रिजल्ट में स्कूल हो गए फेल दस फीसदी स्कूलों का परीक्षा परिणाम न्यून

शिक्षक तो एमएए और बीएडधारी | रिजल्ट में स्कूल हो गए फेल दस फीसदी स्कूलों का परीक्षा परिणाम न्यून

पाली : शिक्षक तो एमएए और बीएडधारी | रिजल्ट में स्कूल हो गए फेल दस फीसदी स्कूलों का परीक्षा परिणाम न्यून

सरकारी विद्यालयों में एमए, बीएड योग्यताधारी शिक्षक नियुक्त है, लेकिन वे पढ़ाते लापरवाही से हैं। कोरोना काल में आए परिणाम की तरह शिक्षकों, बच्चों व अभिभावकों ने इस बार भी परिणाम मिलने का सोच लिया। जिसकी बानगी इस बार आया माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का परिणाम है। जिले में माध्यमिक शिक्षा के 513 स्कूलों में से 53 ऐसे स्कूल रहे, जिनमें दसवीं का परीक्षा परिणाम पचास प्रतिशत से कम रहा है। सोजत क्षेत्र के गजनई गांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में 15 विद्यार्थी दसवीं कक्षा में थे, लेकिन पास एक भी नहीं हुआ। बाली क्षेत्र के गोरिया, सोजत के खींवल रायपुर, कोलारा देसूरी व पाली के धानी गांवों के स्कूलों का परिणाम भी निराशाजनक रहा है।

कला वर्ग में ये पिछड़े

  • राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बेड़कलां, जैतारण
  • राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गिरी, जैतारण
  • राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, खिंवाड़ा
  • विज्ञान वर्ग में ये पिछड़े
  • राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बारवा
  • राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पावा

कोरोना के कारण पिछले दो साल में पढ़ाई का दावा जरूर किया गया, लेकिन ऑनलाइन पढ़ने पर बच्चे ने कितना सीखा या शिक्षक ने कितना बेहतर समझाया। यह पता नहीं चला। ऑनलाइन पढ़ाई भी ऑफ लाइन शिक्षण के समान सशक्त नहीं है। इस बार बच्चों, शिक्षकों व अभिभावकों ने सोचा कि पिछले दो साल की तरफ इस बार भी अंक मिल जाएंगे। ऐसा इस बार नहीं हुआ। परीक्षा का तरीका और अंकों का तरीका पिछले दो साल से एकदम अलग रहा। ऐसे में शिक्षकों को विद्यार्थियों के साथ स्वयं कड़ी मेहतन करनी थी। पढ़ने व पढ़ाने के स्तर को सुधारना था। ऐसा नहीं करने वाले विद्यालयों में परिणाम कम गया। इस बार फिर शिक्षकों को विद्यार्थियों के साथ मेहनत करनी होगी। जिससे परिणाम बेहतर आए और शिक्षण का स्तर सुधरे।

नूतनबाला कपिला, सेवानिवृत्त अतिरिक्त निदेशक, शिक्षा विभाग

संस्था प्रधानों को करेंगे पाबंद

जिन स्कूलों का परीक्षा परिणाम कम रहा है। उनके नाम निदेशालय को भेजे गए है। उन संस्था प्रधानों को पाबंद कर विद्यालयों का परिणाम सुधारने के प्रयास शुरू कर दिए है।

राहुल राजपुरोहित, जिला शिक्षा अधिकारी, मा. मुख्यालय, पाली

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए