fbpx
जयपुर मंडलEDUCATION UPDATESजयपुर
Trending

समय से पहले शिक्षक कर देते है बच्चों की छुट्टी

समय से पहले शिक्षक कर देते है बच्चों की छुट्टी

चंदीपुर। चंदीपुर क्षेत्र में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय लोधीपुरा में समय से पहले बच्चों की छूट्टी कर दी जाती है और दो दिन से पोषाहार नहीं बना है, जबकि इस मामले में संस्था प्रधान का कहना है कि विद्यालय में 46 बच्चों को खाना खिला दिया गया। अब सवाल यह उठता है कि जब पोषाहार बना ही नहीं तो संस्था प्रधान ने बच्चों को खाना कैसे खिला दिया?जानकारी अनुसार ग्रामीणों ने बताया कि राउप्रावि लोधीपुरा में समस्याओं का अंबार लगा हुआ है। समय पर अध्यापक नहीं आते है, विद्यालय में दो दिन से पोषाहार नहीं बना है और 46 बच्चों को पोषाहार खिला दिया। विद्यालय में कक्षा कक्षो के ताले लटके मिलते है। इन समस्याओं के चलते बच्चों के भविष्य पर संकट मंडरा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि विद्यालय में जब पोषाहार बनाया जाता है तो सबसे पहले अध्यापक खाते है, उसके बाद बच्चों को खाना खिलाया जाता है, इस दोरान रटउ अध्यक्ष ने जब अध्यापकों से बच्चों का उपस्थिति रजिस्टर चेक करने की बोला तो अध्यापक विद्यालय के गेट बंद करके वहां से चल दिए।

प्रधानाध्यापक ने बोला कि आप मत बनाओ खाना आपकी उम्र ज्यादा हो गई है, हम दूसरी खाना बनाने वाली लगाएंगे, विद्यालय में दो दिन से खाना नहीं बना।
-नेनी बाई , कुककम हेल्पर

मैं अध्यापकों को नोटिस भिजवाऊंगा और मैंने इनको पहले भी नोटिस दे दिया था और इनको बोल भी दिया था इन्होने आॅनलाइन 67 का नामांकन बता रखा है, कल भी मैैंने आॅनलाइन हजारी नहीं भरी थी, उसके लिए भी इनको बोला था, इनको में वापस नोटिस जारी करके उच्च अधिकारियों को अवगत करवाऊंगा।
-गजानंद लोधा, पीईईओ बनेट   

दो दिन से विद्यालय में खाना नहीं बनाया, पहले विद्यालय में खाना बनाते थे लेकिन उसमे से अध्यापक भी खाना यहीं खाते है।
-हाजरा बाई , कुककम हेल्पर 

विद्यालय में यहां 80 का नामांकन है और 5 अध्यापक मौजूद है, जिसमे से 2 अध्यापक राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बनेट में डेपोटेशन पर लगा रखा और और एक अध्यापक छुट्टी पर है। वैसे आज बारिश की वजह से बच्चें कम आये थे, बारिश की वजह से कमरे टपकते तो आज जल्दी छुट्टी कर दी, हमने आज 46 बच्चों को पोषाहार खिलाया है।
-शिवजीराम वर्मा,  प्रधानाध्यापक 

इस मामले की वस्तु स्थिति की जांच करके कार्यवाही की जाएगी और जो भी कमी है, उसको दूर करवाया जाएगा।
– वीरेद्र सिंह, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी 

इनका कहना है 
आज बारिश के कारण बच्चें विद्यालय में नहीं आए और बच्चों को पोषाहार भी नहीं खिलाया, हम विद्यालय आए तब हमें कोई भी बच्चा नहीं मिला, पहले पोषाहार बनाया जाता था, लेकिन पोषाहार का खाना अध्यापक खाते है, उसके बाद बच्चों को खिलाया जाता है।
– मेव खां ग्रामीण 

समय से अध्यापक विद्यालय में नहीं आते है, विद्यालय में 5 अध्यापक है लेकिन आज दो अध्यापक ही विद्यालय में आए। मैंने पीईईओ को फोन करके बोला कि मुझे उपस्थिति रजिस्टर चेक करना है, उसके बाद पीईईओ ने प्रधानाध्यापक को कॉल किया तो यहां से अध्यापक बिना उपस्थिति रजिस्टर चेक कराए विद्यालय के कमरों का ताला लगा कर चले गए।
-मोहम्मद शाकिर ,रटउ अध्यक्ष 

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए