fbpx
अलवरजयपुर मंडल
Trending

केवल जिले के अंदर ही होंगे तबादले नहीं बनी तबादला नीति

Transfer policy will not be made only within the district

केवल जिले के अंदर ही होंगे तबादले नहीं बनी तबादला नीति

अलवर : राजस्थान में शिक्षकों के तबादलों का दौर प्रारंभ हो गया है। इस बार भी तृतीय श्रेणी शिक्षकों को एक बार फिर से निराशा हाथ लगी है। इस ग्रेड में 2018 के बाद तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादले नहीं किए गए हैं।

पिछली साल मांगे आवेदन

2021 में राज्य सरकार की ओर से डार्क जोन सहित संपूर्ण प्रदेश के शिक्षकों से तबादलों के लिए आवेदन मांगे जिसमें 85 हजार शिक्षकों ने तबादलों के लिए आवेदन किया।

इन तबादलों को लेकर तबादला नीति बनाने की बात सामने आई, लेकिन शिक्षकों को इसमें निराशा ही हाथ लगी। गत माह तबादलों से रोक हटी तो सरकार ने साफ कर दिया कि डार्क जोन सहित अन्य जिलों से तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादले नहीं किए जाएंगे केवल जिले के अंदर ही तबादला होगा।

यह कहते हैं शिक्षक नेता

राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष मूलचंद गुर्जर ने बताया कि संघ शिक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री से मिलकर इस पर तुरंत फैसला करने का आग्रह किया जाएगा। यदि कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया जाता है तो संघ इसे लेकर आंदोलन का रास्ता पकड़ेगा।

जिले के भीतर भी नहीं तबादला

सरकार ने जिले के अंदर ही शिक्षकों को एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक में स्थानांतरण करने की छूट प्रदान की थी। शिक्षा मंत्री ने घोषणा भी कर दी थी। इससे तृतीय श्रेणी शिक्षकों को आंशिक फायदा होने की आस जगी थी लेकिन उस पर भी रोक लग गई।

निराश हुए शिक्षक

इस ग्रेड से जुड़े शिक्षक निराशा की स्थिति में है बाड़मेर और जैसलमेर सहित अन्य डार्क जोन के जिलों में लगे शिक्षक 15 वर्षों से अधिक समय से अपने गृह जिले में तबादला होने का इंतजार कर रहे थे लेकिन इस बार भी उनका तबादला नहीं होगा।

शिक्षकों के लिए स्थानांतरण नीति बनाने को लेकर राज्य सरकार की ओर से अन्य राज्यों में स्थानांतरण नीतियों का अध्ययन करने के लिए कुछ दल भेजे थे, जिन्होंने अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार एवं शिक्षा विभाग को प्रस्तुत की थी। राज्य में स्थानांतरण नीति का ड्राफ्ट भी तैयार किया था जो लागू नहीं किया जा सका। तृतीय श्रेणी शिक्षकों में कक्षा 1 से 5 एवं कक्षा 6 से 8 के शिक्षक आते हैं जिन्हें वर्तमान स्टाफिंग पैटर्न में लेवल प्रथम एवं लेवल द्वितीय के नाम से जाना जाता है। इसी तर्ज पर शिक्षक भर्ती भी हो रही है।

मोनिका ईनानियाँ

नमस्कार मित्रो, मैं मोनिका ईनानियाँ एम. ए. & एम फिल मैं आपको शिक्षा जगत की हर एक हलचल से करवाउंगी अपडेट !!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:

Adblock Detected

आपके सिस्टम में AD ब्लोकर है उसे निष्क्रिय कीजिए